Advertisement
Categories: देश

तनिष्क ने वापस लिया तो बंटा सोशल मीडिया, कइयों ने बताया संगठित हिदुत्व की जीत | nation – News in Hindi

तनिष्क के विवादित विज्ञापन का स्क्रीनशॉट.

नई दिल्ली. ज्वेलरी बनाने वाली कंपनी तनिष्क (jewellery brand Tanishq) ने अपना विवादित ऐड (Cotroversial Ad) वापस ले लिया है. दरअसल तनिष्क ने अपने ऐड की थीम अंतरधार्मिक विवाह रखी थी. इस ऐड के प्रसारित होने के बाद सोशल मीडिया पर #BoycottTanishq ट्रेंड करने लगा. #तनिष्कदेशसेमाफीमांगो जैसे ट्विटर ट्रेंड भी सुर्खियों में आए. इस बीच तनिष्क के ऐड वापस लेने को जीत की तरह भी बताया गया तो कई लोगों ने इसे लेकर कंपनी की आलोचना की.

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने ट्विटर पर कहा- जिन्हें हिंदू-मुस्लिम एकता परेशान करती है, वह भारत का बहिष्कार क्यों नहीं करते? पूरे घटनाक्रम पर तिरुवनंतपुरम से सांसद थरूर ने कहा, ‘तो हिंदुत्व के कट्टर लोगों ने तनिष्क ज्वैलरी का बहिष्कार करने का आह्वान किया है क्योंकि उन्होंने खूबसूरत विज्ञापन के जरिए हिंदू-मुस्लिम एकता को उजागर किया.’ थरूर ने कहा- ‘अगर हिंदू-मुस्लिम ‘एकत्वम’ (एकता) उन्हें बहुत परेशान करती है, तो वे दुनिया में सबसे लंबे समय तक जीवित रहने वाले हिंदू-मुस्लिम एकता के प्रतीक-भारत का बहिष्कार क्यों नहीं करते हैं?’

https://twitter.com/ShashiTharoor/status/1315833504253374464?ref_src=twsrc%5Etfwवहीं लेखक चेतन भगत ने कहा है कि टाटा ग्रुप की कंपनी होने के नाते तनिष्क को ज्यादा स्पष्ट और साहसी होना चाहिए. चेतन भगत ने लिखा है कि अगर कंपनी ने कुछ गलत नहीं किया है तो उसे मजबूत होना चाहिए. वहीं पत्रकार राणा अयूब ने भी कंपनी द्वारा ऐड डीलीट किए जाने को लेकर तीखी प्रतिक्रिया दी है.



दूसरी तरफ कई लोगों ने इसे जीत के तौर पर भी देखा है. बीजेपी की छात्र इकाई एबीवीपी की नेता और जेएनयू की रिसर्च स्कॉलर अणिमा सोनकर ने कहा है कि तनिष्क द्वारा ऐड डिलीट करने से पता चलता है कि यूनाइटेड हिंदू क्या कर सकते हैं. अणिमा के इस ट्वीट को रिट्वीट करते हुए हए फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत ने ऐड को शर्मनाक बताया है.


Source link

Leave a Comment
Advertisement

This website uses cookies.