Advertisement
Categories: देश

केजरीवाल द्वारा कृषि कानून की प्रतियां फाड़ने को हरसिमरत ने बताया घटिया नाटकबाजी

अकाली नेता हरसिमरत कौर ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. (फाइल फोटो)

चंडीगढ़. पूर्व केन्द्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल (Harsimrat Kaur Badal) ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) पर कृषि कानूनों की प्रतियां फाड कर ‘घटिया नाटक’ करने का बृहस्पतिवार को आरोप लगाया. हरसिमरत ने कहा कि दिल्ली की केजरीवाल सरकार कृषि से जुड़े केन्द्र सरकार के कानूनों में से एक को अधिसूचित करने वाली सरकारों में अव्वल थी.

बयान जारी कर दी प्रतिक्रिया
दिल्ली विधानसभा में केन्द्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ बृहस्पतिवार को एक प्रस्ताव पारित किया गया, इस दौरान केजरीवाल ने कानूनों की प्रतियां फाडीं और कहा कि वह देश के किसानों को धोखा नहीं दे सकते. बादल ने एक बयान जारी करके कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री को ‘ड्रामेबाज’कहा जाता था लेकिन इस बार उन्होंने विधानसभा में कुछ कानूनों की प्रतियों को फाड़ कर ‘घटिया नाटक’ किया और ‘अनोखा पाखंड’ दिखाया है , जिसमें से एक को उन्होंने 23 नवंबर को अधिसूचित किया था.

‘दिल्ली के मुख्यमंत्री घड़ियाली आंसू बहा रहे हैं’उन्होंने केजरीवाल को किसानों पर ‘दया’ करने को कहा ,साथ ही कहा कि यह बेहद आश्चर्य की बात है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री को अचानक याद आया कि किसान तेज ठंड में खुले में बैठे हुए हैं और उनमें से 20से ज्यादा की मौत हो चुकी है. बादल ने कहा,‘दिल्ली के मुख्यमंत्री घड़ियाली आंसू बहा रहे हैं और उस धब्बे को मिटाने की कोशिश कर रहे हैं जो केन्द्र सरकार के निर्देश पर कृषि कानूनों को अधिसूचित करने में जल्दबाजी दिखाने पर उनके नाम पर लगा है.’

उन्होंने कहा,‘किसान जानते हैं कि केजरीवाल और आप सरकार ने उनके संघर्ष को सभी समर्थन नहीं दिया और वह हमेशा केन्द्र सरकार के इशारों पर नाचे हैं.’


Source link

Leave a Comment
Advertisement

This website uses cookies.