Advertisement
Categories: देश

कांग्रेस की कल बड़ी बैठक, सोनिया गांधी के बुलावे पर पार्टी के नाराज शीर्ष नेताओं को मनाने दिल्ली गए कमलनाथ

कमलनाथ को क्राइसिस मैनेजमेंट की ज़िम्मेदारी सौंपी गयी है. फाइल फोटो

भोपाल. कांग्रेस में उठ रहे नेतृत्व परिवर्तन की मांग के बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने 19 दिसंबर को पार्टी के शीर्ष नेताओं की बैठक बुलाई है. बैठक में पार्टी से नाराज चल रहे वरिष्ठ नेताओं को भी बुलाया है. उन नेताओं को भी बुलावा भेजा गया है जिन्होंने हाल ही में चिट्ठी लिखकर पार्टी में स्थाई अध्यक्ष समेत संगठन में बदलाव की मांग रखी थी.कल होने वाली बैठक से पहले आज कांग्रेस के सीनियर लीडर और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ (Kamalnath) को भी दिल्ली बुलाया गया. कमलनाथ आज दोपहर में दिल्ली रवाना हो गए.

बताया जा रहा है कि सोनिया गांधी ने कमलनाथ को पार्टी के नाराज नेताओं को बैठक से पहले मनाने की जिम्मेदारी सौंपी है. बताया जा रहा है कि नाराज नेता कमलनाथ के संपर्क में हैं. ऐसा माना जा रहा है कि कल होने वाली बैठक से पहले कमलनाथ को क्राइसिस मैनेजमेंट के लिए बुलाया गया है. कमलनाथ आज दिल्ली में असंतुष्ट नेताओं के साथ चर्चा कर पार्टी के पक्ष में माहौल बनाने का प्रयास करेंगे.

बैठक से पहले क्राइसिस मैनेजमेंट
19 दिसंबर को होने वाली बैठक में पार्टी के नए अध्यक्ष के चुनाव के लिए आमराय बनाने की कोशिश होगी.हाल ही में कांग्रेस के सीनियर लीडर कमलनाथ ने सोनिया गांधी से मुलाकात की थी. उन्होंने सोनिया गांधी को सलाह दी थी कि उन्हें खुद पार्टी के शीर्ष नेताओं से मिलकर उनकी नाराजगी दूर करना चाहिए. क्योंकि सभी असंतुष्ट नेता पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं. इनका अपना राजनीतिक कद है.उसी के बाद सोनिया गांधी ने शीर्ष नेताओं की बैठक बुलाई है और इस बैठक से पहले कमलनाथ को दिल्ली बुलाकर नाराज नेताओं से चर्चा करने के लिए कहा गया है.भरोसेमंद सेनापति की तलाश

दस जनपथ पर होने वाली बैठक को महत्वपूर्ण माना जा रहा है. कांग्रेस के नये अध्यक्ष चुनने के बारे में भी बैठक में चर्चा हो सकती है. हालांकि सोनिया गांधी के अध्यक्ष पद संभालने के बाद से ही पार्टी के अंदर राहुल गांधी को दोबारा जिम्मेदारी सौंपने की मांग उठी थी. लेकिन राहुल गांधी को दोबारा पार्टी की कमान देने का एक खेमा विरोधी है.साथ ही सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल के निधन होने के बाद भी उसकी भरपाई कोई नहीं कर सका है. ऐसे में सोनिया गांधी को अपना भरोसेमंद सेनापति भी चुनना है.

बड़े फैसले की उम्मीद
बीते दिनों सोनिया गांधी से कमलनाथ की मुलाकात को इसी से जोड़कर देखा जा रहा है. सोनिया गांधी लंबे समय से अस्वस्थ हैं.ऐसे में पार्टी में आम राय के जरिए किसी एक नाम और चेहरे पर मोहर लगनी है. कल होने वाली बैठक में इस पर कोई बड़ा फैसला हो सकता है.

नेतृत्व परिवर्तन की सुगबुगाहट

प्रदेश के सीनियर लीडर सज्जन सिंह वर्मा ने कहा सोनिया गांधी के बुलावे पर कमलनाथ आज दिल्ली गए हैं. वहां वो पार्टी नेताओं के साथ चर्चा करेंगे. पार्टी में नेतृत्व बदलाव के साथ ही प्रदेश संगठन में बदलाव को लेकर भी कल की बैठक में कोई बड़ा फैसला हो सकता है. क्योंकि कमलनाथ राष्ट्रीय स्तर की राजनीति में लंबे समय तक सक्रिय रहे हैं और नेहरू-गांधी परिवार के काफी करीबी और भरोसेमंद हैं इसलिए ऐसे माहौल में उनका दिल्ली दौरा खासा अहम होगा.


Source link

Leave a Comment
Advertisement

This website uses cookies.