Advertisement
Categories: देश

कई राज्‍यों में कड़ाके की ठंड, इन इलाकों में पड़ सकता है पाला; जानें अपने क्षेत्र का हाल

दिल्ली में हाड़ कंपाने वाली ठंड.

नई दिल्ली. उत्तर भारत के कई शहर पहले ही कड़ाके की सर्दी (Winter) का सामना कर रहे हैं. इसके बाद अब ठंड उत्तर प्रदेश, बिहार (Bihar), झारखंड, छत्तीसगढ़ और पूर्वी मध्यप्रदेश के कुछ हिस्सों में हालत खराब करने वाली है. यह जानकारी मौसम एजेंसी स्कायमेट ने रविवार को दी है. एजेंसी ने बताया कि अगले 2-3 दिनों में शीत लहर और तेज होंगी. इसके अलावा मौसम विभाग ने देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) समेत कई क्षेत्रों में अगले 24 घंटों में पाला की संभावना जताई है.

मौसम विभाग ने रविवार को बताया कि जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, गिलगिट-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली, उत्तर प्रदेश और उत्तरी राजस्थान के कुछ इलाकों में अगले 24 घंटों में पाला (Ground Frost) पड़ने के आसार है. इसके अलावा बिहार और उड़ीसा के आंतरिक इलाकों में जारी शीत लहर अगले दो दिनों तक जारी रह सकती है. मौसम विभाग ने आगामी 48 घंटों में राजस्थान के ज्यादातर भागों में न्यूनतम तापमान में 2 से 3 डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी होने और सोमवार से राज्य में शीतलहर से राहत मिलने का अनुमान व्यक्त किया है.

राहत की खबर
हालांकि, देश के उत्तर पश्चिमी और इससे सटे मध्यभारत में जारी शीत लहर से कुछ दिनों में राहत मिल सकती है. मौसम विभाग ने कहा है कि इन इलाकों में 21 दिसंबर को शीतलहर के खत्म होने की संभावना है. विभाग ने कहा है कि पंजाब, राजस्थान, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली में आज के अवलोकन से पता चला है कि बीते 24 घंटों में अधिकतम तापमान के लिहाज से सकारात्मक रुझान मिला है. ऐसा कहा जा सकता है कि इन सब डिवीजन क्षेत्रों से ठंडे दिन अब खत्म हो गए हैं. स्कायमेट ने अनुमान लगाया है कि पंजाब हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार और पश्चिम बंगाल के कुछ इलाकों में शीतलहर जारी रहेगी.

रविवार के टॉप 5 ठंडे मैदानी इलाके
स्कायमेट वेदर के अनुसार, रविवार को मैदानी इलाकों में सबसे ठंडा शहर अमृतसर था. यहां पारा 1.0 डिग्री सेल्सियस रहा. वहीं, राजस्थान के सीकर में पारा 1.6 डिग्री, सीकर में 2.0 डिग्री, नारनौल में 2.4 सेल्सियस और राजस्थान के भीलवाड़ा में पारा ठंड 2.8 डिग्री सेल्सियस रहा.


Source link

Leave a Comment
Advertisement

This website uses cookies.