Advertisement
Categories: देश

आपकी मानसिक और शारीरिक फ़िटनेस पैसे पर कैसे निर्भर करती है? आपकी मानसिक और शारीरिक फ़िटनेस पैसे से कैसे जुड़ी है ?

आखिर हम इंसान किसी भी चीज़ के बारे में चिंता क्यों करते हैं? आखिर क्या वजह है कि किसी खास विषय को लेकर तनाव में रहते हैं? हम छोटी-छोटी बातों के बारे में ज़रूरत से ज़्यादा क्यों सोचते हैं? आखिर ऐसा क्या है जिसके कारण हम सतर्क रहना पसंद करते हैं और अक्सर किसी भी चीज़ का परिणाम बुरा ही सोचते हैं? इन सारे सवालों का जवाब है ‘अनिश्चितता’, यानी पता नहीं कल क्या हो का डर, भविष्य में क्या होगा इसके बारे में ठीक- ठीक कुछ पता न होना, और आगे क्या होगा, यह न पता होने से होने वाली झिझक. जीवन में अनिश्चितता, चाहे करियर को लेकर हो, निजी जीवन, स्वास्थ्य या आपके वित्तीय भविष्य को लेकर हो, ये हमें ऐसी स्थिति में डाल देती है जहां हम घबराने लगते हैं और अक्सर सही फ़ैसले लेने में गड़बड़ी कर बैठते हैं.

इंसान के शरीर के बारे में एक बात जो हमें अच्छे से पता है वो ये है कि अगर आप लगातार चिंता, डर और घबराहट की स्थिति में रहते हैं तो ये सही से काम नहीं कर पाता और कुछ समय में एक ऐसा वक्त आता है जब आपका शरीर आपका साथ छोड़ने लगता है.

ऐसी स्थिति आने की सबसे आम वजहों में से एक है हमारी वित्तीय स्थिति, यानि जब हम ये न पता हो कि क्या पैसों के लिहाज़ से हमारा भविष्य सुरक्षित है या नहीं./हमारा वित्तीय भविष्य सुरक्षित है या नहीं.

क्या होगा अगर कल मेरी नौकरी चली जाए? मेरी अगली तनख्वाह कहां से आएगी? अगर कोई दुर्घटना हो जाए और मैं अपने परिवार का खर्चा न चला सकूं, तो क्या होगा? क्या होगा अगर मुझे कुछ हो जाए और मेरे अपनों को पैसों की कमी का सामना करना पड़े?मान लीजिए कि किसी वजह से आप अपने परिवार का खर्चा न चला सकें, तो ऐसी स्थिती आपके मानसिक स्वास्थ्य को बुरी तरह से प्रभावित करती है जिसका असर आपके शरीर पर पड़ता है, क्योंकि आपकी आर्थिक स्थिती आपके आत्म-सम्मान से जुड़ी हुई है, जो आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक है. यदि आप खुश नहीं हैं तो आप दूसरों को कैसे खुश रख सकते हैं? ये सारे सवाल आपके दिमाग में घर कर जाते हैं और न केवल आपके मानसिक स्वास्थ्य बल्कि आपके शारीरिक स्वास्थ्य को भी बुरी तरह से प्रभावित करते हैं.

आखिरकार, दिमाग स्वस्थ होगा तभी तो शरीर स्वस्थ रह पाएगा. आपका दिमाग जितना शांत होगा आप उतने ही खुश रह पाएंगे. आप जितने खुश रहेंगे, आपके शरीर उतने अच्छे से काम कर पाएगा. अगर आपका दिमाग शांत है तो आप अच्छा आहार ले पाएंगे, बेहतर नींद ले पाएंगे, और अपने शरीर की देखभाल भी बेहतर तरीके से कर पाएंगे. इसलिए हम कह सकते हैं कि, आर्थिक तौर पर आपका मज़बूत होना आपकी मानसिक और शारीरिक फ़िटनेस से सीधे- सीधे जुड़ा है, जिसका ध्यान आप अपनी वित्तीय सुरक्षा को पक्का करके रख सकते हैं.

इसमें एचडीएफसी लाइफ क्लिक 2 वेल्थ प्लान; आर्थिक, मानसिक, और शारीरिक तौर पर फ़िट रहने में आपकी मदद कर सकता है. यह एक यूनिट-लिंक्ड, नॉन-पार्टिसिपेटिंग जीवन बीमा योजना है (बीमा और निवेश दोनों की सुविधा) जो बाज़ार से जुड़े रिटर्न देती है और आपको ये भरोसा दिलाती है कि आपके परिवार का वित्तीय भविष्य सुरक्षित है.

यह एक ऐसी बीमा योजना है जिसमें आपके प्रीमियम का इस्तेमाल, बीमा और निवेश दोनों के लिए किया जाता है, इससे आपको बाज़ार से जुड़े रिटर्न से लाभ पाने का मौका मिलता है. इसका मतलब है कि आप अपने परिवार के भविष्य के लिए अपने पैसे से पैसा कमा रहे हैं. साथ ही, प्रीमियम छूट विकल्प के साथ, आप अपने जीवनसाथी या बच्चे के लिए बीमा खरीद सकते हैं, अगर आपको कुछ हो जाता है (आपके जाने के बाद ) और इसका भुगतान कोई नहीं कर सकता है तब भी इसके लिए भुगतान किया जाता रहेगा.

इस तरह की बीमा योजना लेने के बाद अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखने की ज़िम्मेदारी आप पर है. इस तरह की सुरक्षा देने वाली बीमा योजना के बाद ,आप अपनी सभी चिंताओं से राहत पाकर उस मानसिक तनाव से आज़ाद हो जाएंगे जो आपके शारीरिक स्वास्थ्य को प्रभावित करता है. बढ़ती उम्र के साथ ज़रूरी है कि आप फ़िट और एक्टिव रहें, ताकि आप और आपका परिवार साथ मिलकर ढ़ेर सारा क्वालिटी टाइम बिता सके. जीवन अनिश्चितताओं से भरा होता है, लेकिन ये हम पर है कि हम उनका असर अपनी ज़िंदगी पर पड़ने दें या नहीं. हमें अपनी आर्थिक फ़िटनेस सुनिश्चित करके अपनी मानसिक और शारीरिक फिटनेस को सुरक्षित रखना होगा. तो आज ही एचडीएफसी लाइफ<link> पर लॉग ऑन करें और एचडीएफसी लाइफ क्लिक 2 वेल्थ प्लान देखें!


Source link

Leave a Comment
Advertisement

This website uses cookies.